अपना मालवा खाऊ उजाड़ू ( अंतराल भाग 2 ) Class 12

इस लेख में आप अपना मालवा पाठ का सार तथा महत्वपूर्ण प्रश्न पत्रों का अभ्यास करेंगे। यह लेख परीक्षा की दृष्टि से उपयोगी है। विद्यार्थियों के हितों को ध्यान में रखकर यह लेख तैयार किया गया है , जो परीक्षा की दृष्टि से उपयोगी है। अपना मालवा खाऊ-उजाड़ू पाठ का सार – कक्षा 12 लेखक …

Continue reading

बिस्कोहर की माटी सार, प्रश्न-उत्तर, बिसनाथ त्रिपाठी

यहां विद्यार्थी के लिए बिस्कोहर की माटी पाठ का सार , महत्वपूर्ण प्रश्न-उत्तर , व्याख्यात्मक प्रश्न तथा लेखक का संक्षिप्त जीवन परिचय उपलब्ध है , जो परीक्षा की दृष्टि से उपयोगी है। शहर तथा ग्रामीण परिवेश में काफी भिन्नता होती है। इस पाठ में ग्रामीण परिवेश का चित्र करने का प्रयत्न किया गया है। लेखक …

Continue reading

जहां कोई वापसी नहीं – निर्मल वर्मा अंतरा भाग 2

इस लेख में आप आधुनिक भारत के नए शरणार्थियों की पहचान कर सकेंगे। जहां कोई वापसी नहीं पाठ का सार तथा महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तरों का समाधान यहां प्राप्त कर सकते हैं। निर्मल वर्मा का साहित्य ग्रामीण तथा सामाजिक परिवेश में व्याप्त समस्याओं के मूल कारण को उजागर करता है। यह लेख ऐसे ही एक समस्या …

Continue reading

आरोहण – कहानी का सार, पाठ की मूल संवेदना, सप्रसंग व्याख्या

इस लेख में आरोहण कहानी का सार , पाठ की मूल संवेदना , व्याख्यात्मक प्रसंग तथा महत्वपूर्ण परीक्षा के प्रश्न का संकलन प्राप्त कर सकते हैं। आरोहण अर्थात चढ़ना या सवार होना। चाहे जीवन की हो या पहाड़ की कोई अभ्यस्त व्यक्ति ही इस पर सफलतापूर्वक सवार हो सकता है। लेखक ने आरोहण कहानी के …

Continue reading

विद्यापति कक्षा 12 – विद्यापति की पदावली सप्रसंग व्याख्या

इस लेख में हम पढ़ेंगे, कक्षा 12 अंतरा भाग 2 का पाठ, विद्यापति की पदावली का सप्रसंग व्याख्या, काव्य सौंदर्य, परीक्षा में पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर पर चर्चा, एवं लेखक का परिचय। विद्यापति भक्ति काल तथा रीतिकाल के बीच संधि समय के कवि थे। अतः इन्हें संधि काल का कवि भी कहा गया …

Continue reading

दूसरा देवदास ममता कालिया, पाठ का सार, व्याख्या, अंतरा भाग २

इस लेख में आप ममता कालिया का संक्षिप्त जीवन परिचय, दूसरा देवदास पाठ का सार, महत्वपूर्ण प्रश्न तथा सप्रसंग व्याख्या आदि का अध्ययन करेंगे। दूसरा देवदास, ममता कालिया की कालजई रचना है। यह प्रेम के प्रथम अनुभव से ओतप्रोत है। यह कहानी शरतचंद द्वारा रचित ‘देवदास’ जैसी प्रेम की अनुभूति कराता है। ममता कालिया ने …

Continue reading

सूरदास की झोपड़ी ( प्रेमचंद ) कक्षा 12, पाठ का सार, प्रश्न उत्तर

इस लेख में प्रेमचंद का संक्षिप्त जीवन परिचय  का अध्ययन करेंगे , साथ ही सूरदास की झोपड़ी पाठ का सार , महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर तथा व्याख्या के रूप में अभ्यास कर सकेंगे जो परीक्षा की दृष्टि से तैयार किया गया है। प्रेमचंद को कथा सम्राट भी कहा जाता है , उनकी कहानियों में जो वास्तविकता और …

Continue reading

असगर वजाहत अन्तरा भाग 2, Asghar wajahat, Antra bhag 2

असगर वजाहत एक सामाजिक कवि हैं जिन्होंने अपने साहित्य के माध्यम से समाज के मूल स्वरूप को उसके भीतर छिपी मौका परस्ती व धोखाधड़ी को उजागर करने का प्रयत्न किया है। उनका साहित्य समाज में व्याप्त विकारों को उजागर करता है और उससे निवारण का मार्ग सुझाता है। वजाहत जी ने शासन व्यवस्था और उसके …

Continue reading

संवदिया कहानी का सार, प्रश्न-उत्तर और सप्रसंग व्याख्या

इस लेख में आप फणीश्वर नाथ रेणु का संक्षिप्त जीवन परिचय संवदिया कहानी का मूल सार तथा प्रश्न-उत्तर और सप्रसंग व्याख्या का अध्ययन करेंगे जो परीक्षा की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है। यह लेख समग्र रूप से प्रकट करने का प्रयास किया गया है , जो विद्यार्थियों के हितों की पूर्ति करता है। फणीश्वर नाथ …

Continue reading

यह दीप अकेला कविता अज्ञेय ( पाठ का सार, सप्रसंग व्याख्या )

इस लेख में अज्ञेय जी का संक्षिप्त जीवन परिचय , यह दीप अकेला पाठ का सार तथा महत्वपूर्ण प्रश्न अभ्यास। सप्रसंग व्याख्या और काव्य सौंदर्य आदि का अभ्यास है। सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन ‘अज्ञेय’ प्रगतिवाद के प्रमुख कवि है। माना जाता है कि प्रगतिवाद का आरंभ इनके द्वारा ही हुआ है। अज्ञेय द्वारा तार सप्तक की …

Continue reading